General

पैरालंपिक खेल क्या हैं? पैरालंपिक खेलों का इतिहास।

यह एक अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित होने वाली बहु-खेल प्रतियोगिता है जिसमें शारीरिक रूप अथवा मानसिक रूप से दिव्यांग खिलाड़ी भाग लेते हैं। पैरालंपिक खेलों की शुरुआत द्वितीय विश्व युद्ध के घायल सैनिकों को फिर से मुख्यधारा में लाने के मकसद से हुई। स्पाइनल इंज्यूरी के शिकार सैनिकों को ठीक करने के लिए खास तौर इसे शुरू किया गया था।

साल 1948 में द्वितीय विश्व युद्ध में घायल हुए सैनिकों की स्पाइनल इंजुरी को ठीक करने के लिए स्टोक मानडेविल अस्पताल में काम कर रहे नियोरोलोजिस्ट ‘सर गुडविंग गुट्टमान” ने इस रिहेबिलेशन कार्यक्रम के लिए स्पोर्ट्स को चुना था। इन खेलों को तब “अंतरराष्ट्रीय व्हीलचेयर” गेम्स का नाम दिया गया था।

पैरालंपिक खेलों की शुरुआत :

साल 1948 में लंदन में ओलंपिक खेलों का आयोजन हुआ, और इसी के साथ ही डॉक्टर गुट्टमान ने दूसरे अस्पताल के मरीजों के साथ एक स्पोर्ट्स कंपीटिशन की भी शुरुआत की।उसके बाद 1952 में फिर इसका आयोजन किया गया।और इस बार ब्रिटिश सैनिकों के साथ ही डच सैनिकों ने भी हिस्सा लिया।

1960 रोम ओलंपिक:

1960 में रोम में ओलंपिक खेलों का आयोजन किया। नियोरोलोजिस्ट डॉक्टर गुट्टमान 400 व्हीलचेयर लेकर ओलंपिक शहर में पहुंचे। जहां उन्होंने पैरा लोगों के लिए खेल का आयोजन किया गया।इसमें सैनिकों के साथ ही आम लोग भी भाग ले सकते थे।

Note – ब्रिटेन के मार्गेट माघन पैरालंपिक खेलों में गोल्ड मेडल जीतने वाले पहले एथलीट बने।

1980 के बाद मिली लोकप्रियता:

राजनीतिक उथल-पुथल के चलते इसे 1980 में मॉस्को ने पैरालंपिक खेलों की मेजबानी से इनकार कर दिया। जिसके बाद हॉलैंड की राजधानी एम्सटर्डम को इन पैरालंपिक खेलों की मेजबानी का मौका दिया गया।

Note:-पैरालिंपिक्स शब्द को सियोल में 1988 में अंतर्राष्ट्रीय ओलंपिक समिति (IOC) द्वारा अनुमोदित किया गया।

पैरालंपिक खेलों का संचालन

पैरालंपिक खेल का आयोजन अंतर्राष्ट्रीय पैरालंपिक समिति (International Paralympic Committee) के द्वारा किया जाता है।

  • IPC की स्थापना – 22 सितंबर 1989
  • IPC का मुख्यालय – बॉन, जर्मनी
  • IPC का अध्यक्ष – एंड्रयू पारसंस

पैरालंपिक खेलों का मूल्य

  • साहस (Courage)
  • दृढ़ संकल्प (Determination)
  • प्रेरणा (Inspiration)
  • समानता (Equality)

[FAQ] पैरालंपिक पर पूछे जाने वाले सवाल

22 (ग्रीष्मकालीन) + 6 (शीतकालीन)
पैरालंपिक का आदर्श वाक्य "Spirit in Motion" है। आदर्श वाक्य 2004 में एथेंस में पैरालंपिक खेलों में पेश किया गया था। पिछला आदर्श वाक्य "Mind, Body, Spirit" था, जिसे 1994 में शुरू किया गया था।
सर गुडविंग गुट्टमान

1948 लंदन में

Note - तब इसे अंतरराष्ट्रीय व्हीलचेयर गेम्स / स्टॉक मोडविले खेल कहा जाता था ।

निष्कर्ष:

Yourhindi.net पर आने के लिए आपका धन्यवाद आशा है कि आपको हमारा पोस्ट पैरालंपिक खेलों का इतिहास पसंद आया होगा। अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें। मैं आपको सुझाव दूंगा कि कृपया Password Ko Hindi Mein Kya Kahate Hain पोस्ट को पढ़ना चाहिए। आपका दिन शुभ हो..!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button