Hindi Poems

Best 30+ Hindi Poems for Friendship

हेलो दोस्तों आज हमने आपके लिए Hindi Poems on Friendship यानी की दोस्ती पर हिंदी कविताएँ लिखे हैं जीने आप हमारीसाइट पर आकर पढ़ सकते हैं

स्वागत है आप सभी का हमारी वेबसाइट साइट shayarireaders.in में और आज इसके अन्दर हम आपको बताने वाले हैं सबसे बढ़िया दोस्ती पर हिंदी कविताएँ मे जो कि बहुत ही ज़्यादा मज़ेदार होगे क्योकि इनकी लेंथ बहुत ज़्यादा बड़ी होने वाली आप सभी का दिल से दोबारा स्वागत करते हैं।

मित्रता का महत्व

मित्र हमारी मदद करें
जिन लोगों को हम अपने जीवन में लाते हैं वे दोस्त हमें दिखाएंगे कि कैसे क्षमा करें, हँसें, और बातचीत करें। किसी भी रिश्ते के मूल घटक, प्रेमियों से लेकर सहकर्मियों तक, सभी दोस्ती में स्थापित होते हैं। हम सीखते हैं कि अपने दोस्तों, यहां तक ​​कि जो हमसे विपरीत हैं या विभिन्न विचारों को साझा करते हैं, के कारण लोगों के साथ बातचीत कैसे करें।दोस्ती के लिए हिंदी कविताएँ

दोस्तों हमें मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत रखें
दोस्ती के सबसे अनदेखी लाभों में से एक यह है कि यह हमारे दिमाग और शरीर को मजबूत रखने में मदद करता है। वास्तव में, यह हमारे शारीरिक स्वास्थ्य के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि अच्छा खाना और फिट रहना। हार्वर्ड के एक हालिया अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला है कि हमारे जीवन में ठोस दोस्ती होने से मस्तिष्क स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में भी मदद मिलती है। दोस्त भी हमें तनाव से निपटने में मदद करते हैं, बेहतर जीवन शैली के विकल्प बनाते हैं जो हमें मजबूत बनाए रखते हैं, और हमें स्वास्थ्य के मुद्दों और बीमारी से अधिक तेज़ी से पुनर्जन्म करने की अनुमति देते हैं। दोस्ती हमारे मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी महत्वपूर्ण है। एक अध्ययन ने यह भी सुझाव दिया कि सकारात्मक दोस्तों के साथ समय बिताना वास्तव में बेहतर के लिए हमारे दृष्टिकोण को बदल देता है।

दोस्तों मदद मौसम मौसम लोनली टाइम्स
दोस्तों अकेलापन (एक आम मिथक) पूरी तरह से ठीक नहीं होता है, लेकिन वे अकेले समय के दौरान हमारी मदद करते हैं। हम सीखते हैं कि दयालुता को कैसे स्वीकार किया जाए और जब हमें सहायता की आवश्यकता हो, तब भी पहुंचें।वे दर्दनाक समय जब हम बिना दोस्तों के भी हो सकते हैं, जो हमारे जीवन में आने वाली दोस्ती की सराहना करते हैं। एनी के स्थान पर, अक्सर किसी बीमारी से निपटने या सर्जरी से उबरने में बहुत अकेला और अलग हो सकता है। दोस्ती के लिए हिंदी कविताएँ

अच्छी दोस्ती इससे उबरने में मदद करती है। एनी के स्थान पर हमारे द्वारा की गई सबसे बड़ी मित्रता तब रही है जब हम ऐसे व्यक्तियों का समर्थन कर रहे हैं जिन्हें हमारी सेवाओं की आवश्यकता है।

मित्रता हमारे जीवन की गुणवत्ता में सुधार करती है
दोस्तों के साथ समय बिताने से, हम अपने जीवन को महान बातचीत, हार्दिक देखभाल और समर्थन के साथ भर देते हैं, और ज़ोर से हँसते हैं। जब हम कठिन समय पर गिरते हैं, तो दोस्त वहां चीजों को परिप्रेक्ष्य में रखते हैं और हमारी मदद करते हैं।

इस विशेष दिन पर, हम आप सभी से अपने करीबी दोस्तों को एक बड़ा गले लगाने के लिए कहते हैं और उन्हें अपने जीवन में अधिक से अधिक अर्थ लाने के लिए धन्यवाद देते हैं। हम जानते हैं कि हम एनी के स्थान पर आज और हमेशा ऐसा करते रहेंगे। दोस्ती पर हिनीदी कविताएँ पढ़ें |

Hindi Poems for Friendship


दोस्तों के साथ जिंदगी
जिंदगी ज़र्मों से भरी है,
वक़्त को मरहम बनाना सीख लो,
हारना तो है एक दिन मौत से,
फिलहाल…
दोस्तों के साथ जिंदगी जीना सीख लो।

अगर दिल बड़ा हो तो दोस्त बनते हैं
अगर अकल बड़ी हो तो दुश्मन बनते हैं


short Hindi poems on friendship

क्यूँ मुश्किलों में साथ देते हैं दोस्त क्यूँ गम को बाँट लेते हैं दोस्त
ना रिश्ता खून से न रिवाज से बंधा फिर भी ज़िन्दगी भर साथ देते हैं दोस्त

फांसले मिटा कर आपस में प्यार रखना दोस्ती का ये रिश्ता हमेशा बरकरार रखना
बिछड़ जाए कभी आपसे हम तो आंखों में हमेशा हमारा इंतजार रखना…

जिंदगी के तूफानों का साहिल है तेरी दोस्ती दिल के अरमानों की मंजिल है तेरी दोस्ती जिंदगी भी
बन जायेगी आपनी तो जन्नत अगर मौत आने तक साथ दे तेरी दोस्ती!

आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ
मैं जैसे हर शय में किसी शय की कमी पाता हूँ मैं

एक रात रब ने मेरे दिल
मुझसे पूछा,
दोस्ती में इतना क्यों खोया है,
तब दिल बोला दोस्तों ने ही दी
हे सारी खुशिया,
वरना प्यार करके तो दिल
हमेशा रोया हे.

दोस्ती वो नहीं जो जान देती है, दोस्ती वो भी
नहीं जो मुस्कान देती है, अरे! सच्ची दोस्ती तो वो है…
जो पानी में गिरा हुआ आंसू भी पहचान लेती है।

क्या आप को अब भी याद है
मेरे साथ समय बिताया क्या
आप देख सकते हैं कि मैं क्या
देख सकता हूँ? क्या तुम कभी मेरे पास आओगे?
मुझे अभी भी सभी यादें याद हैं,
मेरे दोस्त मैं आपको इस तरह से फोन करता था
, आज मेरे पास कहने के लिए कुछ नहीं बचा है,
बस मेरे खामोश आँसू!

कुछ ऐसा होता था दोस्ती का नज़राना
पल में रूठना, पल में मनाना दिल का हर एक राज़ सुनाना
लगता था हर पल सुहाना कुछ ऐसा होता था दोस्ती का नज़राना
पल में रूठना, पल में मनाना

दिखावा इसमें न ज़रा है,
जज़्बातों से भरा है,
पल में समझ जाये हाल दिल का,
रिश्ता दोस्ती का कितना खरा है

क्यूँ मुश्किलों में साथ देते हैं दोस्त
क्यूँ गम को बाँट लेते हैं दोस्त ना
रिश्ता खून का न रिवाज से बंधा है।
फिर भी ज़िन्दगी भर साथ
देते हैं “दोस्त

दोस्ती प्यार का मीठा दटिया है
पुकारता है हमें आओ, मुझमें नहाओ डुबकी लगाओ

रिश्तों की है यह दुनिया निराली
, सब रिश्तों से प्यारी है यह दोस्ती तुम्हारी,
मंजूर है आँसू भी आंखो में तुम्हारी,
ऐ दोस्त अगर आ जाये होठों पे मुस्कान तुम्हारी….


नाम बोलो करो
मुझको तुम दोस्त अपना
तुम्हारे दोस्तों की लंबी सी कतार में
खुद को मुझे नहीं देखना

दिखावा इसमें न ज़रा है,
जज़्बातों से भरा है,
पल में समझ जाये हाल दिल का,
रिश्ता दोस्ती का कितना खरा है


Long Hindi Poems on Friendship

दोस्ती
तुम मेरी राह मस्जिद में देखना
‘मैं तुम्हारी राह मंदिर में देखूगा
तुम मेरे लिए नमाज पढ लेना।
मैं तुम्हारे लिए हाथ जोड़ लूँगा।
तुम मेरे लिए मस्जिद में चादर चढ़ा
देना मैं तुम्हारे लिए मंदिर में नारियल चढ़ा दूंगा
तुम मेरे अब्बू का खयाल रखना
मैं तुम्हारी माँ का खयाल रखूगा।
तुम इस रिश्ते को दुशमनो से संभाले रखना
मैं इस रिश्ते को प्यार से संभाल रखूगा

“एक बहुत ही सुंदर कविता”
एक काम करना,थोड़ी सी मिट्टी लेना, उससे दो प्यारे से दोस्त बनाना।
इक तुझ जैसा….एक मुझ जैसा…. फिर उनको तुम तोड़ देना।
फिर उनसे दोबारा दो दोस्त बनाना, इक तुझ जैसा…एक मुझ जैसा…
ताकि तुझ में कुछ-कुछ मैं रह जाऊँ और मुझ में कुछ-कुछ तुम रह जाओ।
कुछ तुम जैसा कुछ मुझ जैसा……

हम हमेशा दोस्त रहेंगे
हर खुशी तकलीफ,
साथ साथ जीया करते थे हार हो या
जीत एक दुसरे का साथ दिया करते थे
कभी तुम हमसे कभी
हम तुमसे रूठ जाया करते थे
फिर हम तुम्हे और कभी तुम हमें मना
लिया करते थे एक दूसरे की हम खुद
से ज्यादा परवाह किया करते थे
बस कल ही की बात लगती है हम तुम
अपनी दोस्ती पर कितना इतराया करते थे
यकीन नहीं होता वक़्त साथ हालात इतने बदल
जायेंगे हम अपनी अपनी दुनिया में इस कदर खो जायेंगे
एक दूसरे की जिंदगी में बस याद बनकर रह जायेंगे खैर
हम ना तुमसे, ना जिंदगी से कोई शिकायत करेंगे
, बस इस यकीन को हमेशा
दिल में कायम रखेंगे जब भी दिल से पुकारेंगे, तुम्हें अपने पास पाएंगे

हम हमेशा दोस्त रहेंगे
हर खुशी तकलीफ, साथ साथ जीया करते थे
हार हो या जीत एक दुसरे का साथ दिया करते थे
कभी तुम हमसे कभी हम तुमसे रूठ जाया करते थे
फिर हम तुम्हे और कभी तुम हमें मना लिया करते थे
एक दूसरे की हम खुद से ज्यादा परवाह किया करते थे
बस कल ही की बात लगती है हम तुम
अपनी दोस्ती पर कितना इतराया करते थे
यकीन नहीं होता वक़्त साथ हालात इतने बदल जायेंगे
हम अपनी अपनी दुनिया
में इस कदर खो जायेंगे एक दूसरे की जिंदगी
में बस याद बनकर रह जायेंगे खैर हम ना तुमसे,
ना जिंदगी से कोई शिकायत करेंगे,
बस इस यकीन को हमेशा दिल में कायम
रखेंगे जब भी दिल से पुकारेंगे, तुम्हें अपने पास पाएंगे

…..मैं यादों का किस्सा खोलूँ तो, …कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं…
….मैं गुजरे पल को सोचूँ तो, …कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं…
अब जाने कौन सी नगरी में, …आबाद हैं जाकर मुद्दत से,
…मैं देर रात तक जागूं तो, ….कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं…
कुछ बातें थीं फूलों जैसी, …कुछ लहजे खुशबू जैसे थे, .
..मैं शहर-ए-चमन में टहलूँ तो, …कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं…
सबकी जिंदगी बदल गयी, …एक नए सिरे में ढल गयी, .
…किसी को नौकरी से फुरसत नहीं,
किसी को दोस्तों की जरुरत नहीं..
सारे यार गुम हो गये हैं, … “तू” से “तुम” और “आप” हो गये हैं.
मैं गुजरे पल को सोचूँ तो, …कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं…


दिल को छू लेने वाली बात
एक दिन हम जुदा हो जायेंगे ना जाने कहाँ खो जायेंगे
तुम लाख पुकारोगे हमको पर लौट कर हम ना आयेंगे
थक हार के दिन के कामों से जब रात को सोने जाओगे
जब देखोगे अपने फोन को पैगाम मेरा ना पाओगे
तब याद तुम्हें हम आयेंगे पर लौट के ना आ पायेंगे
इक रोज़ ये रिश्ता छूटेगा फिर कोई न हम से रूठेगा
पर हम ना आँखें खोलेंगे
तुम से कभी ना बोलेंगे आखिर उस दिन तुम रो दोगो ऐ दोस्त तुम मुझे खो दोगे


चाँद कोठे पर चड़ा है और तू अब भी ज़िद पे अड़ा है,
मान जा, नीचे आ, ऊपर वहाँ, कुछ ना मिलेगा…
ये जो बैठा है पकड़ के, इस ज़िद से झुक जाना बड़ा है
, चल बता, आज तक, इस जहाँ में, कोई मर के भी ज़िंदा पड़ा है…
हूँ कह रहा जो बात मैं, उसमें थोड़ा सा ज्ञान का घड़ा है
, तू सुन मेरी, है एक ही, जो जिंदगी, तो झगड़े में कौन सा तमग़ा जड़ा है…
जा तू जीत का पहन ले हार, ना भरे जी तो मुझे ताने मार,
अब ठीक है, चल नीचे आ, खाना यहाँ ठंडा धरा है…
चाँद कोठे पर चड़ा है, बिखरी है चाँदनी चारों ओर,
ले मिला के हाथ, कर हँस के बात, प्यार में क्या छोटा और क्या बड़ा है…


दिल बनाम दिमाग : ऐ दिल कभी तू खौफ से निकला भी कर जरा..
हमने दिखाई हिम्मत, तू भी दिखा जरा !! ऐ दिल तू मुझसे ले ले,
अब कोई मशवरा.. भुला चूका हुँ में तो, तू भी भुला जरा !!
तू क्यूँ हैं मोहब्बत में.. इतना घिरा घिरा.. में राख हो चूका हुँ, तू भी तो जल जरा !
! आजा मेरे तू रास्ते.. मुझको ना यूँ डरा.. मंजिल पड़ी हैं सामने.. कदम बढ़ा जरा ॥
मैंने सूखा लिया है.. तेरा जख्म ना भरा.. में तो नशे में गुम हुँ.. दवा तू भी ले जरा !!
फरेबी हो चूका हुँ… क्यूँ इतना है तू खरा.. अपनों का रंग देख के.. तू भी बदल जरा ।।
मुझे सब समझ हैं आता.. चिकना है तू घड़ा.. घुट घुट के जी रहा है.. मौज उनसे तो पूछ जरा !!
रो रहा हैं आसमां.. फट गयी हैं ये धरा !! तेरे सामने किसी को उसने छ लिया जरा !

यारी_
वो दुआ है एक खूबसूरत एहसास है,
किताब का ,मेरा पसंदीदा हिस्सा है कभी गुस्सा
, कभी आँसू और कभी खिलखिलाहट से भरा है ।…|
याद है वो गाने गुनगुनाना और का सर के ऊपर से जाना,
खुद ही चिढाना , फिर हसाना कुछ अपनी सुनाना कुछ मेरी सुन लेना ।…
वैसे तो बहुत नादानियां हैं उसमें,
पर मुझे संभालना जानती है,
प्यार का पता नहीं पर अपनों के लिए लड़ना जानती है
उस खुदा की मुझको, खूबसूरत सौग़ात है,
जिससे रोशन मेरी भी कायनात है।…
यारी बयां कर पाए ऐसी शायद कलम
नहीं हुस्न-ए-जना की तारीफ मुम्किन नहीं
आफ़रीन आफरीन ।


Poem for best friend forever in Hindi

मित्र म्हणजे एक आधार एक विश्वास
एक आपूलकी आणि एक अनमोल
साथ जी मला मिळाली तूच्या रूपाने

मित्रता सच्ची हो तो जान देती है,
समुद्र में गिरे आंसू भी पहचान लेती है।


Emotional poems on friendship in Hindi

आ कि तुझ बिन इस तरह ऐ दोस्त घबराता हूँ
मैं जैसे हर शय में किसी शय की कमी पाता हूँ मैं

“हर ख़ुशी तकलीफ, साथ साथ जिया करते थे,
हार हो या जीत एक दुसरे का साथ दिया करते थे
कभी तुम हमसे कभी हम तुमसे रूठ जाया करते थे
, कभी हम तुम्हे और कभी तुम हमें मना लिया करते थे
एक दुसरे की हम खुद से ज्यादा परवाह किया करते थे,
बस कल ही की बात लगती है”

मित्रता सच्ची हो तो जान देती है,
समुद्र में गिरे आंसू भी पहचान लेती है।

मित्र मित्र बनाओ पढ़ने वाले
, सच्चाई पर चलने वाले।
हित की बातें करने वाले
, सेवक सज्जन बनने वाले।
दुःख ददों को सहने वाले.
आज्ञा पालन करने वाले।

कहीं देखा है क्या तुमने
उसे हर पल जो मुझे हँसाया करता था

दोस्ती का मतलब
एक प्यारा सा दिल जो कभी नफरत नहीं करता एक प्यारी सी मुस्कान जो
कभी फीकी नहीं पडती एक एहसास जो कभी दुःख नहीं देता
और एक रिश्ता जो कभी खत्म नहीं होता

दालतमाहमारा फलती रहे,
चलती रहे पलती रहे सूरज की तरह निकलती रहे ।

“क्या खबर तुमको दोस्ती क्या हैं,
ये रोशनी भी हैं और अँधेरा भी हैं,
दोस्ती एक हसीन ख्वाब भी हैं,
पास से देखो तो शराब भी हैं,
वफा क्या हैं वफ़ा भी दोस्ती हैं
, दिल से निकली दुआ भी दोस्ती हैं,
बस इतनासमझ लेतू एक अनमोल हिरा हैं दोस्ती।”

तुमने कहा,मैंने सुना
,सुनके तुम्हारीबात अपनी मंज़िल का रास्ता मैंने खुदने चुना।
जो बातें सही लगी,उसे इस दिल में रखी. जो नहीं उसे भूल गई मैंसखी।
कई मर्तबेतक मैंने मेरी मंज़िल कीराह तकी। तेरी वो सारीअच्छी बातेंही मैंने अपने साथ रखी।

इसलिए आजभीमुझेतूयाद आती हैंसखी।
आज अपनी मंज़िल पर हूँ मैं खड़ी याद
आती हैं बीते कल ही, तेरे संग बिताई हुईवो
हर घड़ी। जिसमे ना जाने कितनी बार तूने मुझे समझाया।
जीवनका हरगहरापाठ, तूने मुझे कितनी प्यार से पढ़ाया।
जिसे समझमुझे, तेरे मेरे जीवन में होने का महत्त्व समझमे आया।


तेरी मेरी दोस्ती जन्नत का फूल है
, तेरी दोस्ती में मेरे दोस्त हर भूल क़बूल है
, न होंगे एक दूसरेसे जुदा कभी
, अपनी दोस्ती का बस यही उसूल है।


दोस्ती पर कुछ हिंदी कविताएँ

तू छोड दे कोशिशें इन्सानों को पहचानने की…! यहा जरुरतों के हिसाब से…
सब बदलते नकाब है…! अपने गुनाहों पर सौ पर्दे डालकर
हर शख्स कहता है जमाना बडा खराब है!

तेरी मेरी दोस्ती जन्नत का फूल है
, तेरी दोस्ती में मेरे दोस्त हर भूल क़बूल है
, न होंगे एक दूसरेसे जुदा कभी
, अपनी दोस्ती का बस यही उसूल है।

जो रोशनी में
जो रोशनी में खड़े हैं वो जानते ही नहीं।
हवा चले तो चरागों की जिंदगी क्या है ।।

दोस्ती पर कुछ तरस खाया करो |
दोस्ती पर कुछ तरस खाया करो।
बेज़रूरत भी कभी आया करो।
सोचो मैंने क्यों कही थी कोई बात,
हू-ब-हू मुझको न दोहराया करो।
रोशनी के तुम अलमबरदार हो,
रोशनी में भी कभी आया करो।
बर्फ़ होता जा रहा हूँ मैं नदीम’ मेरे ऊपर धूप का साया करो।
दोस्ती पर कविताएं।


Conclusion:

Thank you for visiting yourhindi.net hope you liked our Hindi Poems for Friendship. If you liked this post of ours, then do share it with your friends on your social media. I would suggest you read Hindi Poems on Father post. Have a good day..!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button